कागद राजस्थानी

बुधवार, 1 जून 2011

राजस्थानी नारा

राजस्थानी नारा
















1-आपणो राजस्थान !
   आपणी राजस्थानी !

2-सगळी भाषावां नै मानता
   राजस्थानी नै टाळो क्यूं ?
   म्हारी जबान पर ताळो क्यूं ?

3-राजस्थानी हो,राजस्थानी बोलो !
   संको क्यू ?
    आ आपणी मायड़ भाषा है !

4-राजस्थानी आपणी मायड़ भाषा है !
   राजस्थान्यां री जीवण आसा है !!

5-सुणल्यो नेता डंकै री चोट !
     पै’ली भाषा-पछै बोट !!

6-मांग म्हारी मोटी नीं !
   भाषा मांगां-रोटी नीं !!

7-भोत राख्या गूंगा राजस्थानी !
   अब नीं चालै आ कारसतानी !!

8-म्हारी रोटी-बेटी राजस्थानी !
   म्हारी बोटी-बोटी राजस्थानी !!

9-उण भाषा में कैडो़ खोट ?
   जिण भाषा में मांगो बोट !!

10-लोकराज में देखो कैडी़ सून !
    म्हे बैठ्यां हां कद सूं मून !!

11-राजस्थानी म्हारी भाषा है !
   आ जूणजडी़ म्हारी सांसां है !!

12-राजस्थान री आ कहाणी है !
    ना भाषा है ,  ना पाणी है !!

13-भाषा मांगां-कोई राज नहीं !
   बिन भाषा लोकराज नहीं !!

14-लोकराज री देखो पोल !
    राजस्थानी सकै नीं बोल !

15-बंद करो सै खेल-तमासा !
      म्हानै देवो-म्हारी भाषा !

======================
[]-ओम पुरोहित"कागद"
24-दुर्गा कोलोनी

हनुमानगढ़ संगम- 335512
======================

2 टिप्‍पणियां:

  1. आदरणीय ओम जी भाई सा'ब, मायड भाषा को समर्पित आपका ब्लॉग आकर्षित करता है.आपकी रचनाधर्मिता एक दिन मायड भाषा को उसका हक दिलवाने में अपना योगदान अवश्य ही देगी, मैं ऐसा विशवास रखता हूँ. सादर-- अशोक पुनमिया.

    उत्तर देंहटाएं
  2. भोत बढ़िया काम करयो है जी..........

    उत्तर देंहटाएं

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.