कागद राजस्थानी

शनिवार, 21 जनवरी 2012

दो दूहा

*तंत*
धोळा काळा कर लिया,जवान होग्या कंत ।
गोडा ओज्यूं बूढिया ,  आयो कोनीं तंत ।।
गोडा मांगै गेडियो,     ऐनक मांगै आंख ।
लाल गाभा देखगै,     डोकर काढै पांख ।।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.