कागद राजस्थानी

रविवार, 2 जून 2013

* पांच कुचरणीं *


1. 

सरकार देसी
मुफ्त कम्बळ
साड़ी अर दाणां
फेर कांईं खटणां
अर कांईं कमाणां !

2.

नत्थियो बरड़ावै
खावण नै दाणां कोनीं 
बिन्या आधार कारड़ 
बै आणां कोनीं !


3.


कसर ही
दो साइन री
आज होग्या
अर
लागगी रिफाइनरी 
अब करसी 
सरकार खेल
थोड़ा दिन थम जाओ
सरकार काढसी तेल !


4.


जा रे ठोठ
घाल दिया बोट
कटग्या हाथ
अब खा होठ
बां खनै बहुमत है
सुकर मना
थूं सलामत है !


5.

थांरा टैक्स
थांनै दिया
दोनां हाथां बांट
थांरी टाट
फोड़ण में
क्यूं घालता घाट !

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.