कागद राजस्थानी

शुक्रवार, 25 अप्रैल 2014

डांखळो


फोज में भरती होग्यो सेठां आळो छोरो ।
गोळी ना लागै इण सारु करवायो डोरो ।
            छिड़गी छेकड़ जंग
              लाई होयो तंग
बोल्यो पेँट भरै, कठै है ओट खातर धोरो ।।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.