कागद राजस्थानी

गुरुवार, 24 अप्रैल 2014

भाग : सात चितराम

1.
बै बोल्या
हाण-लाभ
जस-अपजस
सुख-दुख
राड्-प्रीत 
सगळो कीं
भाग री बात है
जको भाग में होवै
बो ई मिलै !

लोगां पूछ्यो
ओ भाग भळै
फेर किंयां मिलै ?

बण
लोगां नै दकाळ्या-
भागो अठै सूं !

2.
चोखा भाग भी
भाग में होवणां
भोत जरूरी है-
बाबो जी देवै हा
गादी माथै परवचन
लोगडा आवै हा
चढावा चढावै हा
बाबो जी मुळकता
टाळ-टाळ खावै हा
आप आपरै भाग री
बात बतावै है
कीं मोट्यार
नास्तिक बताईज्या
बै कसमसावै हा-
चालो आपां
बाबो जी री आमद मे
आपणां भाग लगावां !

3.
जद सूं ठाह लाग्यो
आप रा हक भी
भाग होयां ई मिलै
भाग-भाग थक लिया
पण भाग नीं मिल्यो
जिण सूं ही आस
उण तो
भगा-भगा मार्‌या
छेकड बोल्यो
भाग होसी तो
मतै ई मिल जासी
घरै जा डोफ्फा
क्यूं गोडा तोडै !

4.
कागदां में
गरीबी री रेखा नीचै हा
मोटा-मोटा रसूखदार
खांवता-पींवता
तगडा रोबदार
नत्थू खस्सै हो
टंक रै आटै सारू
बण पूछ्यो
इण लिस्ट में
थे हो
म्हैं क्यूं कोनीं
बै बोल्या-
आ भाग री बात है
थांरो डोळ कोनीं !

नत्थू बरडायो
इण भाग री तो
ऐसी-तैसी !
सिंझ्या पड्‌यां
नत्थू रै भाग में
कानून आयो !

5.
भाग होवै तो
भागणों नीं पडै
नीं तो
भाग्यां राखो
किणीं रै कीं भी
पल्लै नीं पडै
आ बात नेता जी
आपरै बेटै नै
सडक रो
ठेको देंवता बताई
इण बात माथै
नत्थू लाई
फगत ताळी बजाई
नेता जी नै
भोत झाळ आई !

6.
कदै ई
काम करतो
कुण ई नीं देख्यो
पण
नेता जी रै
बेटै रै बेटै रो साळो
है भोत रिपियां आळो
पूछ्यो तो
पडूत्तर मिल्यो
आ तो
आप आपरै
भाग री बात है
थांरै काईं तकलीफ है ?



7.
सुण भाई रे
भाग होयां ई
मिलै मजूरी
थे तो जाबक
करमठोक हो
भाग में भाठो है
आटो छोडो
भाठा ई ठोको
आ बात सुण
नत्थू नै झाळ आयगी
उण भाठो उठायो
अर बोळणियैं माथै
ताण'र बगायो
आगलै ई दिन
नत्थू रै घरां
दाणां तुलग्या
नत्थू रा भाग
मतै ई खुलग्या !

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.