कागद राजस्थानी

गुरुवार, 10 अप्रैल 2014

बगत रा काळा लेख

थूं उण पार
म्हैं इण पार
बीच में
वायरै हाथां 
उधड़तो-उथळीजतो
मून अकूंत थार ।

आडी पटक सड़क
अंट रैयो है थार
जाणैं डट रैयो है
कोई डोकरो
घर री
आब रुखाळतो
छाती माथै लियां
बगत रा काळा लेख ।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.